Author: Chetna

बच्चे को पॉटी ट्रेनिंग कैसे शुरू करे -कुछ जरूरी टिप्स

जब बच्चे साल या डेढ़ साल की उम्र के हो जाते है तो हर माँ को उसे पॉटी ट्रेनिंग देने की चिंता सताने लगती है ।हर माँ चाहती है कि अब उसका बच्चा सुसू और पॉटी जैसी चीज़ें खुद से बताना शुरू करदे तो उसके लिए बच्चे को इस बारे में समझाना जरूरी होता है […]

सरनेमस का महत्व -इसकी शुरुआत और मतलब

हमारे भारत जैसे देश में जब भी कोई बच्चा पैदा होता है । तो सब लोग उस बच्चे का नाम रखते हैं पर उसे उपनाम उसके परिवार वालों का मिलता है । हमारे देश में अलग अलग उपनाम या सरनेमस है इनमें से सबसे प्रसिद्ध इस प्रकार है : अग्रवाल : यह सबसे ज़्यादा चर्चित […]

गर्भावस्था में धूम्रपान का बच्चे पर असर और छोड़ने के घरेलू उपाय

धूम्रपान हर किसी के लिए हानिकारक कहा जाता है और जब बात एक होने वाली माँ की आती है तो इससे दूरी बनाये रखना ही बेहतर होता है क्योंकि इसका दुष्प्रभाव आपसे कहीं ज़्यादा आपके बच्चे पर होने का खतरा रहता है । गर्भावस्था में धूम्रपान करने से आपके होने वाले बच्चे को कोई भी […]

बादाम बच्चों को खिलाने के फायदे और व्यंजन

जैसे जैसे बच्चा बड़ा होता जाता है माँ को बच्चे के पोषण की चिंता सताने लगती है । उसे लगता है कि बच्चे को थोड़े से आहार के साथ क्या दिया जाये जो उसे सभी महत्त्वपूर्ण गुण प्रदान करे तो उस समय बादाम की गिरी सबसे ज़्यादा महत्त्वपूर्ण समझी जाती है । बादाम की गिरी […]

बच्चे आँखे खोल कर क्यों सोते है

जब कोई भी औरत माँ बनती है तो उसे बच्चों की आदतों के बारे में नहीं पता होता । कई बार अगर बच्चा कोई गलत आदत से या फिर किसी परेशानी से जूझ रहा है तो उसे एक माँ के लिए समझना बहुत जरूरी होता है । कई बार कुछ माएँ कहती है कि उनका […]

टॉमबॉय नेम्स और उसके अर्थ

इस दुनिया में बहुत से लोग ऐसे है जो अपने बच्चो का नाम टॉमबॉय नेम्स रखते हैं । जिसका मतलब होता है ऐसा नाम जो लड़कियों और लड़को दोनों के हो सकते है । कई लोग अपनी लड़कियों के नाम टॉमबॉय नाम पर रखते है । ऐ से जेड तक के टॉमबॉयस नेम्स : एडेन(A): […]

बच्चों के लिए संतरे खाने के लाभ और अलग -अलग व्यंजन :

बढ़ती उम्र के साथ बच्चों की खाने- पीने की आदतों में बदलाव करना या उनका अपने आप अलग -अलग चीज़ों की तरफ आकर्षित होना एक आम बात है। ऐसा कहा जाता है कि छ: महीने के बच्चे की आदतों में कई तरह के बदलाव करने जरूर हो जाते है। ऐसे समय में बच्चे के एक […]

शिशुओं में दस्त के लिए घरेलू लक्षण

छोटे बच्चे की पाचन तंत्रिका काफी नाजुक होती है इसीलिए ज़रा सा भी कुछ गलत खाने से या अगर बच्चा माँ का दूध लेता हो और माँ कुछ भारी या बाज़ार का खा ले तो भी बच्चे को बहुत जल्दी दस्त लग जाते है । जब पेट में विषैले तत्व हो तो वो दस्त के […]

नवजात शिशु की मालिश करने के तरीके और फायदे

बच्चे के जन्म के कुछ दिनों के बाद से ही डॉक्टर बच्चे की मालिश करने की सलाह देते है क्योकि ऐसा करने से बच्चे को शारीरिक पोषण मिलता है । ऐसा करने से बच्चे तन्दरुस्त बनने के साथ एक्टिव भी बनते है और उन्हें अच्छी नींद भी आती है । बच्चे की मालिश करने से […]

पैनक्रियास क्या है -लक्षण ,प्रभाव और इलाज

पैनक्रियाटाइटिस एक पेट की ग्रंथि होती है जो छोटी आंत के बगल में होती है पैंक्रियाटाइटिस । पैंक्रियास में सूजन को कहते है पैंक्रियास । उन एन्ज़ायमों का उत्पादन करते है जो हमारे शरीर में पाचन क्रिया को चलाते है । इससे हमारे शरीर की प्रक्रिया चलती है । यह दर्द यह कुछ दिनों के […]

पित्ता दोष-कारण,प्रभाव और घरेलू उपाय

पित्त दोष यानि वो तत्व जो हमारे शरीर के हॉर्मोन्स और एन्ज़ाइम्स को नियंत्रित करता है । हमारे शरीर में पित्त का ठीक रहना बहुत महत्वपूर्ण है अगर किसी के पित्त में कोई परेशानी हो तो वो इंसान पेट की बीमारियाँ जैसे कबज ,अपच आदि से ग्रसित रहता है ।उसका शरीर ठीक से काम नहीं […]

कैल्शियम -कमी के कारण,प्रभाव और जरूरी टिप्स

कैल्शियम की कमी से भाव है कि अगर शरीर में कैल्शियम की कमी हो रही है तो इस से हमारे शरीर की हड्डियों का विकास भी रुक जाता है । इसलिये अपने शरीर को ठीक रखने के लिए हमें अपने शरीर में कैल्शियम को भी पूरा रखना चाहिए । कैसे पूरा करे इस कमी को […]

Back To Top