बच्चों के लिए संतरे खाने के लाभ और अलग -अलग व्यंजन :

बढ़ती उम्र के साथ बच्चों की खाने- पीने की आदतों में बदलाव करना या उनका अपने आप अलग -अलग चीज़ों की तरफ आकर्षित होना एक आम बात है। ऐसा कहा जाता है कि छ: महीने के बच्चे की आदतों में कई तरह के बदलाव करने जरूर हो जाते है। ऐसे समय में बच्चे के एक वर्ष का होने पर उसे संतरा जरूर खिलाना चाहिए । यह बच्चे के अंदर पोषक तत्वों को पूरा करने का काम करता है ।

संतरा खाने के लाभ

  • बच्चे को नियमित रूप से संतरा देने से उसके शरीर के पोषक तत्व पूरे होते है । उसके शरीर में विटामिन सी और मिनरलस की कमी भी पूरी हो जाती है । अगर बच्चा संतरा खाने में आनाकानी करता है तो आप उसे ताजे संतरे का जूस भी निकाल कर दे सकती है ।
  • बच्चे के बड़े होने की साथ- साथ कई बार उसे अपच की समस्या या पाचन क्रिया के ठीक न होने की समस्या भी हो जाती है । ऐसे में आप अगर उसे रोज़ाना एक संतरा खिलाएँगी तो बच्चे की पाचन क्रिया मजबूत बनेगी और वह ठीक ढंग से खाना पचा पायेगा ।
  • ऐसा कहा जाता है कि संतरा नमक और मिनरलस का खजाना है । बच्चे को रोज़ाना संतरा देने से बच्चे  की हड्डियाँ भी मजबूत बनती है । बच्चे के अंदर नमक की कमी नहीं होती और उसे कैलशियम और फॉस्फेट भी मिलता है और बच्चा कई बीमारियों से दूर रहता है ।
  • अगर आप रोज़ाना बच्चे को संतरा देती है तो बच्चा खाँसी और जुकाम से भी हमेशा बचा रहता है और आप बच्चे के संतरे के जूस में चुटकी भर नमक और एक चम्मच शहद भी मिला कर दे सकती है। ऐसा करने से बच्चा कई बीमारियों से दूर रहेगा और बच्चे के लिए एक अलग ही स्वाद होगा ।
  • अगर बच्चे को गले में दर्द है या काली खांसी है तो आप बच्चे को संतरे के जूस में पानी डाल कर उसे पतला कर के पिलाए । यह उसके लिए बहुत ही आरामदायक होता है ।
  • अगर बच्चे  को दस्त लगे हो या डिहाइड्रेशन हो जाये तो ऐसे में बच्चे के अंदर से पानी ख़त्म होने का खतरा बहुत जल्दी बन जाता है तो ऐसे में आप बच्चे को बिलकुल पतला संतरे का जूस बना कर 2-2 चम्मच दिन में 2 बार पिलाये । ऐसा करने से बच्चे को राहत महसूस होगी ।
  • अगर बच्चे को पेट दर्द हो रहा  हो ,खांसी जुकाम या टाइफाइड  बुखार हो आप तब भी संतरे का पतला जूस बना कर दे । बच्चा खुद को स्वस्थ महसूस करेगा और उसे थोड़ी ताकत महसूस होगी ।
  • अगर बच्चे को कोई भी संक्रमण या इन्फेक्शन हो गई हो तो भी आप संतरा दे सकती है । इसमें जिनक मैंगनीज होता है जो हर संक्रमण से राहत देता है बस इस बात का हमेशा ध्यान रखे की बच्चे को बीज और छिलका कभी न दे और संतरा खट्टा भी नहीं होना चाहिए और आप हमेशा बच्चे को ताज़ा फल ही दे ।

कुछ व्यंजन संतरे से बनने वाले :

  • आप बच्चे को गाजर और संतरे की प्यूरी भी दे सकती है । इसमें आपको गाजर को नरम होने तक पकाना है और फिर उसमें संतरे का रस मिला कर छान कर उसमें ऊपर से पिसी हुई दालचीनी छिड़क कर दे । यह प्यूरी बच्चे को बहुत पसंद आएगी और यह पोषक तत्वों से भरपूर रहेगी ।
  • इसे बनाने के लिए आप कम वसा वाला दूध ले उसमें स्वादानुसार चीनी डाले और वनीला एक्सट्रैक्ट्स डाले फिर संतरे की प्यूरी छनी हुई मिला दे । फिर इस सब मिक्सचर को मिक्सी में ब्लेंड कर के सर्व करे । यह गर्मियों के लिए सबसे खास शेक बन जाएगा जो सेहत से भी भरपूर होगा ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top