गर्भ में लड़का या लड़की होने के लक्षण अल्ट्रासाउंड के बिना

जब एक औरत गर्भ धारण करती है तो उसके साथ – साथ परिवार के बाकी लोग भी बच्चे के आने के बारे में सोचने लगते हैं । उसके साथ बनने वाले अपने रिश्ते को सजोने लगते है पर फिर बात आती है कि आने वाला बच्चा लड़का होगा या लड़की । यह बात हर एक लिए बच्चे के जन्म तक राज़ होती है वैसे आजकल लिंग टेस्ट करवाना कानून अपराध है पर पुराने समय की औरतें  तो पेट देख कर ही बता देती थी कि गर्भ में लड़का है या लड़की ।

गर्भ में लड़का होने के लक्षण :

  • अगर महिला को शरीर में खारिश हो रही है तो भी यह लड़के के होने की निशानी है ।
  • अगर महिला के पेट का आकार पूरा गोल हो तो वो भी एक लड़के के होने की निशानी है ।
  • अगर गर्भवती महिला के नाभि के नीचे काली लकीर सीधी और बिलकुल गाढ़ी हो जो साफ- साफ दिखाई पड़े तो वो भी लड़के के होने की निशानी मानी जाती है ।
  • अगर गर्भवती महिला को हर समय अलग- अलग तरह के चटपटे खाने का मन हो रहा हो तो भी लड़का होगा ऐसा माना जाता है ।
  • अगर गर्भवती महिला के पैर और हाथ ठंडे रहते हो तो भी इसे लड़के के होने का संकेत मानते है ।
  • अगर गर्भवती महिला का शरीर ख़ुश्क और रुखा हो रहा हो तो भी यह लड़का होने के प्रमाण है ।
  • अगर आप गर्भ धारण करने से पहले मीठा नहीं भी खाती थी तो भी आपको मीठा खाने की इच्छा होने लगती है अगर गर्भ में लड़का पल रहा हो तो।

गर्भ में लडकी होने के लक्षण :

दिल का तेज धड़कना :

अगर गर्भ में पल रहे बच्चे का दिल एक मिनट में 140 से अधिक बार धड़कता है तो समझ जाना चाहिए कि गर्भ में लड़की है ।

स्व्भाव में चिड़चिड़ापन :

अगर गर्भवती का दिन पर दिन स्व्भाव चिड़चिड़ा और रूखा होता जा रहा है तो यह भी लडकी होने का एक प्रमाण है ।

पेट का आकार :

अगर आपका पेट गोलाकार है पर ऊपर को उठा हुआ है तो भी लड़की होने के आसार होते है ।

मतली आना :

अगर गर्भवती को बहुत ज़्यादा मतली आती है तो यह भी लड़की आने की निशानी होती है ।

रूप निखरना :

अगर गर्भवती का रूप दिन पर दिन निखरता ही जा रहा है तो यह भी लड़की के होने का प्रमाण है ।

ओवुलेशन ट्रैक करने के तरीके :

थर्मामीटर से ओवुलेशन ट्रैक करना : 

यह सुनने में बहुत अटपटा लग सकता हैं कि थर्मामीटर से कैसे कोई अपनी ओवुलेशन ट्रैक कर सकता है  पर ऐसा भी संभव हैं । इसके लिए आपको एक महीने तक अपना नार्मल टेम्परेचर  नोट करना होगा और फिर जिस दिन आपका टेम्परेचर नार्मल से ज़्यादा आए उसी दिन को हम ओवुलेशन डे कहेंगे ।

ऑनलाइन कैलकुलेटर से मापना : 

आजकल हम ऑनलाइन कैलकुलेटर्स की मदद से भी ओवुलेशन डे का पता कर सकते है । इसके लिए हमे LMP डालना होगा और हमारा LMP के 14वें दिन पर  हमारा ओवुलेशन डे होगा ।

ओवुलेशन टेस्ट किट :

आजकल बाज़ार में बहुत आसान तरीका उपलब्ध है अपनी ओवोवुलेशन डे पता करने का ओवुलेशन टेस्ट किट । इस किट के ऊपर इसे इस्तेमाल करने का ढंग लिखा होता है । बस हमें उसे पढ़ कर यह टेस्ट लेना होता है और हम अपना ओवुलेशन डे आसानी से जान सकते है ।

(यह सभी बातें हम सिर्फ अनुमान के तौर पर बता रहे है इनमें बदलाव होने संभव है)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top