गर्भावस्था में शतावरी कल्प और उसके महत्तवपूर्ण फायदे

गर्भावस्था में हर चीज सोच समझ कर ही लेनी चाहिए । शतावरी को एक औषधि के रूप में लिया जाता है । शतावरी गर्भावस्था में बहुत कम मात्रा में लेनी चाहिए क्योकि इसका अधिक उपयोग भी नुकसानदायक हो सकता है । वैसे शतावरी उन्हें ज़्यादा दी जाती है जिनहे ज़्यादा गर्भपात का खतरा हो ।

इसमें पाए जाने वाल पोषक तत्त्व :

  • शतावरी की जड़ो में खनिज जैसे ताम्बा ,मैंगनीज,कैल्शियम ,पोटाशियम आदि पाए जाते है ।
  • इसमें विटामिन ऐ भी भरपूर मात्रा में होता है ।

इसके फायदे :

  • शतावरी खाने से कैंसर नहीं उपजता ।
  • इससे बीपी भी कॉन्ट्रोल रहता है ।
  • इससे गठिया और उच्च कोलैस्ट्रोल भी ठीक हो जाता है ।
  • शतावरी में पाए जने वाले फोलेट से भ्रूण का जन्म दोष ठीक होता है जन्म दोष हो जाने से बच्चे के किसी भी शरीर के हिस्से को नुकसान हो सकता है ।
  • शतावरी का सेवन करने से इम्यूननिटी ठीक रहती है । यह प्रसव के बाद भी गर्भावतियों की इम्म्युंटी मैन्टेन रखता है । यह बच्चे के लिए बहुत फायदेमंद होता है और माँ बच्चे को बीमारियों से बचाती है ।
  • गर्भावस्था के आखिरी महीने में शतावरी लेने से माँ और बच्चे को बहुत फायदा होता है। माँ के स्तनों में दूध का उत्पादन बढ़ जाता है । इससे शरीर के प्रोलैक्टिन होर्मोनेस बढ़ते है और दूध का उत्पादन ज़्यादा होता है ।
  • इसे आप हरे सलाद के रूप में शतावरी लेने से बहुत फायदा होता  है 
  • शतावरी की जड़ से चूर्ण बनाकर सूप मे डाल कर भी ले सकते है ।
  • शतावरी को उबाल कर भी प्रोयग कर सकते है।
  • इसे आप ताज़े जूस के रूप में भी ले सकते है ।
  • शतावरी में फोलिक एसिड पाया जाता है जो  स्वस्थ बच्चे को जन्म देने के लिए बहुत जरूरी होता है ।
  • शरीर में नए सेल और डीएनए बनाने के लिए भी यह खाना फायदेमंद है ।
  • फिट्स को ठीक करने के लिए भी इसे उपयोग किया जा सकता है ।
  • शतावरी में इन्सुलिन पाया जाता है जो शरीर का काफी बैक्टीरिया विकसित करता है ।
  • इसमें कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है इसे हड्डियाँ ,दन्त और बोन स्ट्रक्चर ठीक रखता है।
  • शतावरी मे विटामिन सी भी होता है जो किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन से बचाता है ।
  • शतावरी में विटामिन इ जो नसों से जुड़ी समस्याओं को ठीक करता है और आपक बच्चे को स्वस्थ बनाता है ।
  • इसमें विटामिन बी और विटामिन के भी पाया जाता है ।
  • यह आपके रोगो से लड़ने की शक्ति को बढाता है।
  • यह आपकी त्वचा को गलो देता है ।
  • इससे आपका माइग्रेन भी ठीक होता है।
  • इससे यौनशक्ति बढ़ती है ।
  • अगर आपको बुखार या खांसी हो तब भी इसे ले सकती है ।
  • अगर आप अनिद्रा रोग से ग्रसित है तो भी आप यह ले सकती है ।
  • इससे सूजन में भी आराम आता है ।

इसकी कुछ हनियाँ :

  • शतावरी में एस्ट्रोजन होता है जिन महिलाओ का यह पहले से बढा  हुआ हो उनके स्तनों में दर्द शुरू हो सकता है ।
  • कई बार इसकी वजह से दोनों स्तनों के आकार में भिन्नता पैदा हो सकती है ।
  • यह किडनी और हार्ट से जुडी़ बीमारियो से ग्रसित लोगो को नहीं लेना चाहिए ।
  • कई बार यह आपका वजन बहुत अधिक बढा देता है ।
  • इसे लेने से शिशु के विकास में बाधा भी हो सकती है ।
  • इससे बच्चे के वजन और लम्बाई पर भी असर हो सकता है ।
  • इससे आपके पैरो में सूजन भी हो सकती है ।
  • शतावरी लेने से पहले अपने डॉक्टर से संपर्क करे ।
  • जब आप शतावरी लेते है तो इसे पचाते समय आपके शरीर में खमीर उठता है जिस वजह से आपको गैस हो सकती है और पेट में दर्द भी हो सकता है ।
  • शतावरी में प्यूरिन होता है जो किडनी में पथरी करता है इसलिए इसे न ले ।
  • अगर आपको प्याज से एलर्जी है तो शतावरी बिलकुल भी न ले यह आपकी एलर्जी को और बढा सकता है   ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top