गर्भावस्था में शारीरिक बदलाव -होर्मोनेस और प्राइवेट पार्ट्स

गर्भावस्था में स्तनों में दर्द :

आठवें महीने में स्तनों में दर्द रहना आम बात है। इन दिनो आपको काफी ज़्यादा रिसाव भी हो सकता है ।

  • सबसे पहले तो आपके निप्पलों में कोमलता आने लगती है और वो आगे की तरफ निकलने शुरु हो जाते है ।
  • आपके निप्पलों पर काला गहरा रंग उभरने लगता है ।
  • अब आपके स्तनों पर नसों भी दिखने लगती है ।
  • अब आपके स्तनों में तरल पदार्थ उभरने लगेगा और दर्द भी होने लगेगा ।
  • अब आपके स्तनों में बदलाव भी होने लगेगा ।

कुछ विशेष उपाय :

  • सबसे पहले तो आप अपनी बॉडी को मोसटराइज़ करके रखे । उसके लिए अपने शरीर की खासकर के अपने स्तनों की मालिश जरूर करे ।
  • खुद को संक्रमण से बचाने के लिए सूती कपड़े पहने ।
  • पसीने ना आए इस लिए टेलकम पाउडर का जरूर इस्तेमाल करे ।
  • खुद को जरूरत से ज़्यादा नमक खाने से बचाये ।
  • खुद को हाइड्रेट रखें जितना ज़्यादा हो सके पानी पिए और अपने आहार में निम्बू पानी शामिल करे।

योनि में से दुर्गन्ध आना :

गर्भावस्था में आपकी योनि में से दुर्गन्ध का आना एक आम बात है । यह हर 10 औरतों में 6 को आती ही है। यह दुर्गंध आपके शारीरिक बदलावों ,आपके हार्मोनल बदलाव और आपके पसीने और आपके पी.एच में बदलाव होने की वजह से आती है । पर यह कोई चिंता का कारण नहीं है । यह आपके बच्चे जन्म  के साथ ही ठीक हो जाती है और कई बार यह आपके आहार बदलाव की वजह से भी पाई जाती है और इन सबके इलावा कुछ अहम बातें है जिनकी वजह से भी आपकी योनि में से दुर्गन्ध आती है :-

  • सबसे पहले तो अगर आपको फंगस इनफैक्शन हो तो भी आपकी योनि से दुर्गन्ध आती है । इस वजह से लगातार आपकी योनि में खारिश और बदबूदार रिसाव होता रहता है ।
  • अगर आप इन दिनों ज़्यादा लहसुन या ज़्यादा मसालेदार भोजन का इस्तेमाल कर रही है तो भी आपकी योनि में से बदबूदार रिसाव होता है ।
  • अगर आपके शरीर का पी.एच  लेवल बिगड़ जाए तो भी यह रिसाव मुमकिन है ।
  • हार्मोनल परिवर्तन आपकी योनि में से दुर्गन्ध फैलाते है ।

कुछ खास उपाय :

  • सबसे पहले तो खुद को हमेशा साफ़ रखे ।
  • खुशबूदार साबुन या परफ्यूम का इस्तेमाल करे ।
  • ख़ुद को गीला न होने दे ऐसा होने पर कपड़े साथ ही बदल ले ।
  • अपने अंडरगारमेंट्स अच्छे से धो कर इस्तेमाल करे ।
  • सिंथेटिक कपड़े न पहने ।
  • डॉक्टर से कोई ऑइंटमेंट लिखवाये ।
  • कोई पी .एच बैलेंस  करने वाला वाश इस्तेमाल करें ।
  • हमेशा अपनी योनि को आगे से पीछे की और पोंछे ।
  • कभी भी इसे किसी केमिकल उत्पाद से साफ़ न करे क्योंकि यह इन्फेक्शन को और बढ़ावा दे सकता है ।
  • ज़्यादा से ज़्यादा पानी पीए ।
  • अपनी योनि को गुनगुने पानी से साफ़ करे । वहाँ पर साबुन न लगाएँ ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top