सरनेमस का महत्व -इसकी शुरुआत और मतलब

हमारे भारत जैसे देश में जब भी कोई बच्चा पैदा होता है । तो सब लोग उस बच्चे का नाम रखते हैं पर उसे उपनाम उसके परिवार वालों का मिलता है । हमारे देश में अलग अलग उपनाम या सरनेमस है इनमें से सबसे प्रसिद्ध इस प्रकार है :

अग्रवाल : यह सबसे ज़्यादा चर्चित सरनेम है ऐसा कहा जाता है कि अग्रवाल अगरोहा शब्द से बना है ।अगरोहा अग्रसेन में एक शहर हुआ करता था ।

खत्री : यह सरनेम भी बहुत प्रसिद्ध है और क्षत्रिय शब्द से बना है खत्री ।

पटेल : यह गुजरातियों की सबसे ज़्यादा चर्चित सरनेम पाई गई है और उसका मतलब होता है पगड़ी से ढका हुआ सिर ।

आनंद : आनंद एक हिन्दुओं का प्रसिद्ध सरनेम है जो संस्कृत शब्द अनादा से लिया गया है और इसका अर्थ होता है ख़ुशी । कुछ लोग इसे नाम के रुप में भी रखते है पर असल में यह एक सरनेम है ।

बैनर्जी : बैनर्जी बंगालियों का प्रसिद्ध सरनेम है यह एक शब्द दो शब्दों के जोड़ से बना हुआ हा पहला शब्द “बैन” बंदोघाट गाँव शब्द में से लिया गया है और दूसरा शब्द “जी” जो झा शब्द से लिया गया है जिसका अर्थ होता है टीचर या गुरु ।

बर्मन: राजबंशियो का सरनेम है जिसका संस्कृत अर्थ  होता है वरमन इसमें से वर्मा सरनेम भी लिया गया है । 

भट्ट : भट्ट पंजाब का एक पहचाना हुआ सरनेम है जिसका अर्थ होता है सीखा हुआ ।

बासु : बासु बंगालियों का सरनेम है यह संस्कृत शब्द वासु में से लिया गया है जिसका अर्थ होता है नाम,पैसा और शोहरत ऐसा कहा जाता है कि बासु नाम से भगवान शिव  को भी संबोधित किया जाता है ।

चौधरी : चौधरी सरनेम हिन्दुओं और मुसलमानों में मिलती है इसका अर्थ होता है बिरादारी का सरदार ।

चड्डा : चड्डा ज़्यादातर हिन्दू खत्रियों का सरनेम है पर कई बार यह उपनाम रामगड़िया सिक्खों में भी होता है ।

आहलूवालिया :आहलूवालिया सिक्खो का सरनेम है जो लाहौर के एक गाँव आहलू में से लिया गया है । 

दत्ता : ये सरनेम बंगालियों और पंजाबियों का सरनेम है जो संस्कृत शब्द में से लिया गया है जिसका अर्थ होता है तोहफा । पहले समय में यह जाति वैश्यों हुआ करती थी आसाम और बंगाल में यह सरनेम कायासथ जाति वालों की होती है ।

देओल : देओल सरनेम सिक्खों में से जाट जाति वालो का होता है ।

चावला : चावला हिन्दू और सिक्खों का सरनेम है जो अरोड़ा जाति वालों का होता है ।

आमीन : आमीन मुसलमानों का सरनेम है जो अरबी शब्द ‘अमीन ‘से लिया गया है और उसका अर्थ होता है विश्वासी।

आप्टे : आप्टे एक महाराष्ट्रियन सरनेम है और यह एक कोंकण सरनेम भी होता है यह शब्द आप्टा में से लिया गया है ।

कोहली : कोहली हिंदुओं और सिक्खों का सरनेम है जो अरोड़ा जाति में प्रचलित है ।

मलहोत्रा : मलहोत्रा खत्रियों का सरनेम है और इस को  मेहरोतरा भी कहा जा सकता है । 

झा : झा सरनेम संस्कृत शब्द उपाधाय से लिया गया है जिसका अर्थ होता है टीचर ।

जोशी : जोशी संस्कृत शब्द ज्योत्षी में से लिया गया है जिसका अर्थ होता है ब्राह्मण ।

कपाडिया : कपाडिया राजस्थान बॉम्बे और गुजरात का चर्चित सरनेम है। यह संस्कृत शब्द कपाड़ में से लिया गया है जिसका अर्थ होता है कपड़े का व्यापारी ।

अय्यर : अय्यर हिन्दू ब्रह्मिन की सरनेम है जो तमिल नाडु शहर में ज़्यादातर होती है ।

जैन : जैन सरनेम संस्कृत शब्द जैन में से लिया गया है जिसका अर्थ होता है जीना को मानने वाला 

खन्ना : खन्ना एक सिख सरनेम है पर यह खत्रियों में भी होती है ऐसा कहा जाता है कि यह खानचंद के वंशज है ।

कौर :कौर एक बहुत ही मशहूर पंजाबी औरतों का सरनेम है ।

ग्रोवर : ग्रोवर सरनेम भी पंजबियो में अधिकतर होती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top