गर्भावस्था के पांचवें महीने के लक्षण, बच्चे का विकास, आहार और देखभाल

pregnancy-mai-5th-month-mai-kya-khanna-chaiye

गर्भावस्था के पांचवें महीने यानी 17वें सप्ताह से 20 वें सप्ताह तक पहुंचते-पहुंचते त्वचा खिल उठती है और गर्भावस्था का रूप आपके चेहरे पर दिखने लगता है । जैसे-जैसे  समय बढ़ता है, वैसे-वैसे शरीर में कई बदलाव होते हैं । गर्भावस्था के हर महीने  लक्षण नए हो सकते हैं । 

आइए आज जानते हैं पांचवें महीने के कुछ लक्षणों के बारे में :

  • गर्भावस्था के पांचवें महीने में थकान होना आम बात है । जैसे-जैसे शिशु का वज़न बढ़ेगा गर्भवती को जल्दी थकान महसूस होगी ।
  • गर्भाशय में शिशु का आकार बढ़ने के कारण पीठ के निचले हिस्से में दर्द होने की समस्या आम है ।
  • गर्भावस्था में  गैस और कब्ज़ की समस्या  होना आम है इस वजह से सिर दर्द की शिकायत अक्सर रहती है।
  • इस दौरान नाखूनों पर भी असर पड़ता है । आप पाएंगी कि आपके नाखून पहले से कमज़ोर हो गए हैं और जल्दी टूट जाते हैं । 
  • गर्भावस्था के पांचवें महीने में महिलाओं को मसूड़ों से खून आने की समस्या भी हो जाती है 
  • वज़न बढ़ने के कारण  सांस लेने में भी दिक्कत हो सकती है ।
  • गर्भावस्था में मस्तिष्क पर असर पड़ता है  जिस कारण गर्भवती को भूलने की समस्या हो सकती है ।
  • गर्भावस्था के दौरान अक्सर टांगों की नसें ब्लॉक हो जाती है ।
  • इस समय गैस की समस्या भी होती है ।
  • गर्भवती को कभी-कभी कमज़ोरी महसूस हो सकती है , जिस कारण चक्कर आ सकते हैं ।
  • गर्भावस्था के पांचवें महीने के दौरान नकसीर आना यानी नाक से खून आना भी आम बात है ।

प्रेग्नेंसी के पांचवें महीने में शरीर में होने वाले बदलाव :

गर्भावस्था के पांचवें महीने में बेबी बंप दिखना शुरू हो जाता है । इसके अलावा  गर्भावस्था के पांचवें महीने में नीचे बताए गए बदलाव नज़र आ सकते हैं :

गर्भाशय बढ़ना  : आपका गर्भाशय बढ़कर एक फुटबॉल के आकार जितना हो जाएगा। यही समय है, जब आप अपने पुराने कपड़े छोड़कर विशेष रूप से गर्भावस्था के लिए बनाए गए ढीले-ढाले कपड़ों को पहनना शुरू कर दें ।

 निशान :  पेट बढ़ने के कारण खिंचाव के निशान आपके पेट पर नजर आ सकते हैं । इन्हें कम करने के लिए आप स्ट्रेच मार्क्स क्रीम का इस्तेमाल कर सकती हैं ।

लाल लकीरें : इस समय हथेलियों पर लाल लकीरें भी उभर सकती हैं ।

भूख लगना : इस महीने गर्भवती महिला को पहले की तुलना में ज़्यादा भूख लग सकती है । इस समय महिलाओं को कोई विशेष चीज़ ही खाने का मन करता है ।

गर्भावस्था के पांचवें महीने में बच्चे का विकास: 

  1. हड्डियां और मांसपेशियां पूरी तरह से विकसित हो जाएंगी ।
  2. अगर शिशु लड़का है, तो इस महीने तक उसके अंडकोष विकसित हो जाते हैं ।
  3. अगर शिशु लड़की है, तो उसका गर्भाशय विकसित हो जाता है और उसमें अंडे आ जाते हैं ।
  4. शिशु के सीने पर निप्पल दिखने लगेंगे ।
  5. फिंगर प्रिंट बनने लगेंगे।
  6. मसूड़ों के अंदर दांत बनने लगेंगे ।
  7. किडनी पूरी तरह से काम करना शुरू कर देंगी।

गर्भावस्था के पांचवें महीने में देखभाल :

गर्भावस्था का पांचवा महीना गर्भवती महिला के लिए बेहद ख़ास होता है । इसमें जीवनशैली से लेकर खान-पान तक का विशेष ख्याल रखना होता है। आप जो भी खा रही हैं, इसका सीधा असर ना सिर्फ आप पर, बल्कि होने वाले शिशु पर भी पड़ता है ।

गर्भावस्था के पांचवें महीने के लिए व्यायाम :

  • व्यायाम हर व्यक्ति के लिए ज़रूरी होता है । इस अवस्था में कोई भी गर्भवती महिला नियमित रूप से सैर और सांसों के व्यायाम कर सकती हैं । इसके अलावा, कुछ योगासन करना भी आपके लिए फायदेमंद हो सकता है :
  • इस आसन से मांसपेशियां मजबूत होती हैं और श्रोणि व कूल्हों में लचीलापन आता है ।
  • इसके अलावा, यह आसन करने से प्रसव में आसानी होती है ।
  • इससे टांगें और घुटनों में मजबूती आती है और गर्भाशय से संबंधित परेशानियों को कम करने में मदद मिलती है ।
  • इस आसन से गर्भवती को होने वाली रीढ़ की समस्या से राहत मिल सकती है। इससे मन और मस्तिष्क भी शांत रहता है ।
  • यह आसन कब्ज़, कमर दर्द और ऐंठन जैसी समस्या को दूर करने में मदद करता है। गर्भवती को यह समस्याएं आमतौर पर होती रहती हैं ।
  • यह पीठ के निचले हिस्से को मजबूती देता है । इसके अलावा, यह आसन रीढ़ की हड्डी एवं कूल्हों के लिए फायदेमंद है ।

गर्भावस्था के पांचवें महीने के लक्षण, बच्चे का विकास, आहार और देखभाल

आप पांचवें महीने में इन आसनों को कर सकती हैं, लेकिन इन्हें हमेशा एक योग विशेषज्ञ की निगरानी में रहकर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top