गर्भावस्था में कबज के कारण, लक्षण और घरेलू उपाय

कबज का मतलब होता है मल त्याग में कमी होने या फिर ठीक से पेट साफ़ न हो पाना। कई बार ऐसा पाचन तंत्रिका के खराब होने की वजह से भी होता है जिससे हमारा खाया हुआ खाना हमे पचता नहीं और हमें कबज जैसी बीमारी हो जाती है। अगर आप सप्ताह में 3 दिन भी शौच नहीं जाते तो यह आप के लिए बहुत नुक्सानदेह हो सकता है।

कबज के कुछ लक्षण :

  • सबसे पहले तो आप की जीभ सफ़ेद या मटमैली हो जाएगी। 
  • आपको अपने  मुँह से दुर्गन्ध भी महसूस होगी। 
  • इससे आपका स्वाद भी खराब हो जाता है।
  • इससे आपको उलटी और घबराहट जैसी समस्या हो सकती है।
  • कबज होने से आपका मल भी सख्त हो जाता है। जिसे त्यागने के लिए बहुत ज़्यादा ज़ोर लगाना पड़ता है।
  • आपको पेट में सूजन या दर्द भी  महसूस हो सकती है।

कबज के कारण :

  • अगर आपको शरीर में पानी की कमी हो जाये तो भी ऐसा हो सकता है क्योंकि आँतो में सूखापन होने की वजह से भी ज़ोर लगाना पड़ता है।
  • अगर आप काफी लम्बे समय से शरीर से कुछ ज़्यादा हरकत नहीं कर रहे हैं तो भी आपको कबज हो सकती है।
  • अगर आप दर्दनाशक दवाइयाँ बहुत ज़्यादा ले रहे हो तो भी कबज हो सकती है।
  • अगर आप दूध या दूध से बनी चीज़ें जरुरत से ज़्यादा  ले रहे है तो भी आपको कबज का खतरा हो सकता है।
  • अगर आप गर्भवती है तो भी आपको इन दिनों कबज होना आम बात है।
  • अगर अब आपकी उम्र बढ़ रही है तो भी आपको कबज हो सकती है।
  • अगर आपने अपने रोजाना रूटीन में बदलाव किया हो तो भी आपको कब्ज हो सकती है।

कुछ घरेलू इलाज :

  • सबसे पहले तो आप जीरे और अजवायन को भूनकर उसमें नमक मिलाकर गुनगुने पानी के साथ ले इससे आपको काफी राहत मिलेगी ।
  • आप मुलेठी के चूर्ण को गुड़ के साथ ले यह भी बहुत फायदा करता है।
  • पके हुए केले के साथ दूध ले।
  • आप चने उबालकर जीरा और सोंठ डालकर पीसकर ले यह भी बहुत फायदेमंद होता है।
  • अलसी के बीजों को पीसकर रात को पानी के साथ ले।
  • रात को त्रिफला का चूर्ण  गरम पानी के साथ ले।
  • शहद का उपयोग करने से कब्ज दूर होती है ।
  • पालक का उपयोग भी बहुत फायदा देता है।
  • आप कॉफी भी ले सकते है।
  • आलूबुखारे में पाए जाने वाले उत्तम गुण भी कब्ज दूर करते है।
  • आप रात को सूखे अंजीर उबाल कर खाये और ऊपर से दूध पी लें वो भी बहुत गुणकारी होता है।
  • आप एक गलास गरम दूध इसबगोल भुसी के साथ ले।
  • आप गरम दूध में देसी घी डाल कर पिए।
  • सुबह उठकर निम्बू के रस में काला नमक मिला कर ले।
  • आप रोज़ सुबह पपीते का सेवन करे।
  • आप रोज़ गुड़ गरम दूध के साथ भी ले सकते है।
  • आप हरी सब्जियाँ और ब्रोकली आदि का सेवन करे।
  • आप फल जैसे अँगुर ,पपीता ,अनानास आदि भी जरूर ले।
  • आप तरल पदार्थो का सेवन जरूर करे।
  • आप फाइबरयुक्त चीज़ें लें।
  • आप रोज़ाना ज़्यादा से ज़्यादा  पानी पिए आप निम्बू पानी भी ले सकते है।
  • नियमित रुप से योग और आसन भी करे।
  • आप अपने आहार में पोषक तत्व जरूर ले।
  • आप गरम चीज़ों से परहेज करे और तला भुना खाना बिलकुल भी न खाये।
  • आप तम्बाकू,शराब और धूम्रपान से भी दूर रहे।
  • आप बिलकल भी मिर्च मसाले वाली चीज़ें न खाये।
  • आप खुद को तनावमुक्त रखे और सैर जरूर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top