लेबर पेन के लक्षण,हास्पिटल की तैयारी और उसे संभालने के तरीके

जब कोई औरत पहली बार गर्भधारण करती है तो उसे अपने प्रसव के बारे में कुछ नही पता होता । उसे इस  बात की जानकारी होनी बहुत आवश्यक है कि जब लेबर पेन शुरू होती है तो उसके लक्षण क्या है और उसे सही समय पर होने के लिए क्या करना चाहिए ।

लेबर पेन शुरू होने के लक्षण :

  • आपको अपने पेट और सीने के पास थोड़ा हल्कापन महसूस होने लगेगा और आपका बच्चा आपके पेल्विक क्षेत्र में खिसकने लगेगा ।
  • लेबर पेन शुरू होने से पहले आपको थोड़ी संकुचन महसूस होगी । वैसे तो यह संकुचन थोड़ी देर के लिये होती है पर यह आपके बच्चे  के गलत दिशा में होने का संकेत होता है ।
  • अगर आपकी ग्रीवा पतली होकर फैलने लगे तो भी समझ जाना चाहिए कि आपको लेबर पेन शुरू होने वाली है ।
  • अगर म्युकस के साथ खून आपके पहले महीने मे आए  तो उसका मतलब होता है आपकी गर्भावस्था की शुरुआत हो चुकी है पर अगर यह खून नौवे महीने मे आए तो मतलब होता है कि अब आपकी गर्भावस्था खत्म होने को तैयार है और अब प्रसव का समय आ गया है ।
  • गर्भवती महिला के गर्भ  में एक थैली होती है जिसे हम पानी की थैली कहते है । जब यह थैली फट जाती है तो उसका मतलब होता है अब आपको लेबर पेन होने वाली है । ऐसा होने  पर आपको तुरंत डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए ।
  • आपको अपने आखिरी महीने मे बच्चे के आने की तैयारियाँ शुरू कर देनी चाहिए । उसके लिए कपड़े लेकर रखे और अपने  लिए मैटरनिटी बैग तैयार करे और अपने बच्चे  की जरूरत का सामान भी रख ले ।
  • इस समय अब आपको कभी भी लेबर पेन हो सकती है तो खुद को खुश रखे। बिल्कुल भी तनाव न ले क्योकि तनाव भी आपके प्रसव को समय से पहले करवा सकता है इसलिए खुद को शांत रखे ।
  • अगर आपके नौवे महीने में आपको कबज या डाइरिया हो गया है तो यह भी लेबर पेन शुरू होने का कारण हो सकता है ।
  • इन दिनों आपका सवभाव बदलना शुरू.हो जाएगा । आप चिड़ चिड़े , रूखे और उदास से महसूस करेंगी तब भी समझ लेना चाहिए आपका प्रसव का समय नज़दीक है ।
  • अगर अब आपको सोने में या उठने -बैठने में दिक्कत हो रही है तो आपको समझ जाना चाहिए कि आपका प्रसव का समय आ गया है । इन दिनों आपको कमजोरी महसूस होगी और बहुत नींद भी आएगी ।
  • आप इन दिनों हल्का साँसो वाला व्यायाम भी करे उससे आपका मन शांत रहेगा ।
  • प्रसव का समय आने पर जोड़ो और मासपेशियो में खिचांव पड़ने  लगता है ।
  • अब आपका वजन भी कम -ज़्यादा होना शुरू होगा यह भी प्रसव का एक लक्षण है ।

इन दिनों जरूरी है डॉक्टर से संपर्क करना :

  • जब एक दम से रक्स्राव हो या स्पॉटिंग हो जाये।
  • जब पानी की थैली फट जाये ।
  • जब तेज़ सिर दर्द और धुँधला दिखे ।
  • शरीर में अकड़न या पेट के निचले भाग में दर्द या संकुचन ।
  • शरीर में सूजन महसूस हो ।
  • शिशु की हलचल बंद हो जाना ।

कुछ जरूरी बातें लेबर पेन शुरू होने पर : 

  • लेबर पेन शुरू होते ही हॉस्पिटल जल्दी से जल्दी पहुँचना चाहिए ।
  • लेबर पेन होने पर आप लेटकर तेज- तेज साँस लेते रहे इससे आपको हॉस्पिटल तक पहुँचने में आसानी रहेगी ।
  • लेबर पेन होने पर थोड़ी -थोड़ी देर में पानी जरूर पिए । इससे आपको दर्द सहने में सहायता मिलेगी ।
  • इस समय आपको घबराना नही चाहिए और हौंसला रखना चाहिए ।
  • इस समय आपको दर्द पीठ से होकर आगे की तरफ आएगा तो खुद को शांत रखने का प्रयास करे ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top