प्रेगनैंसी में मिर्गी होने पर लक्षण और खान-पीन के तरीके

मिर्गी एक बहुत ही खतरनाक बीमारी है । यह किसी को भी हो सकती है पर अगर यह दौरे गर्भवती को हो तो यह एक चिंता का विषय हो सकता है क्योकि इसका असर गर्भवती के होने वाले बच्चे पर भी हो सकता है ।

इसके लक्षण :

  • एकदम से अचेत और बेहोश हो जाना।
  • एकटक एक ही चीज़ को देखते रहना।
  • माँसपेशियों में जकड़न।
  • शरीर का पूरी तरह हिल जाना।
  • अजीब सी गंध महसूस होनी।
  • दिमाग में कोई डिफेक्ट हो जाना।
  • अगर कभी आपको रास्ते में यह दौरा पड़ जाए तो आपको कोई हानि भी हो सकती है।
  • कई बार खाना खाते समय आपको दौरा पड़ सकता है तो आपका
  • भोजन फेफड़ो में पहुँचने पर आपको निमोनिया भी हो सकता है।
  • आपके दिल की धड़कन भी तेज़ हो सकती है।
  • आपके अबॉरशन होने का खतरा भी हो सकता है।
  • आपको बहुत ज़्यादा थकावट भी महसूस हो सकती है।
  • आपके बच्चे को बहुत ज़्यादा नुकसान भी पहुँच सकता है ।

अगर मिर्गी का दौरा पड़ जाए तो निम्नलिखित तरीके तुरंत अपनाने चाहिए :

  • सबसे पहले फर्श पर सीधा लेट जाए जहाँ आस -पास कोई सामान न हो।
  • सिर के निचे तकिया जरुर ले।
  • सिर के निचे एक मुलायम कपड़ा रखें।
  • अगर गले में कुछ भी पहना हो जैसे मफलर आदि तो उसे तुरंत निकाल दे।
  • साफ पानी से सब्जियों को धोकर अच्छे  से छील कर प्रयोग करे।
  • उस समय कुछ भी खाने की कोशिश न करे यह आपको नुकसान पहुंचा सकता है।
  • समय -समय पर डॉक्टर से परामर्श करे।
  • एक साइड लेकर लेटने की कोशिश करे।

क्या खाये इस समय :

  • आप इन दिनों फल जैसे आम ,संतरा और सेब आदि का सेवन करे।
  • आप फालसे भी जरूर खाये यह भी इस रोग को ठीक करने के लिए अच्छा होता है ।
  • आप अंजीर भी ले।
  • आप नाशपाती और आड़ू भी खाए यह भी फायदेमंद होता है ।
  • आप साबुत मूँगी और मोठ भी ले।
  • आप दूध और दूध से बने पदार्थ जरूर खाएं।
  • आप सूखे मेवे जैसे काजू ,बादाम और अखरोट का सेवन भी करे।
  • आप तिल का तेल भी जरूर ले।
  • मुंगी की दाल भी बहुत फायदेमंद होती है।
  • आप गाजर का मुरब्बा भी खा सकती है।
  • आप पुदीने की चटनी भी ले यह एक तो आपका स्वाद बरकरार रखेगी और आपको फायदा भी करेगी।
  • गेहूँ और चावल की चोकर भी इन दिनों बहुत राहत देती है।
  • आप अरहर की दाल भी खा सकती है।
  • इस समय आप कुछ मसाले जैसे तुलसी ,हल्दी ,अजवायन का प्रयोग जरूर करे।
  • आप कच्चे प्याज और लहसुन का प्रयोग भी जरूर करे।
  • आप पालक भी जरूर खाये। यह मिर्गी में बहुत फायदेमंद होता है। यह आपको आयरन प्रदान करता है।
  • आप अगर मांसाहारी है तो मछ्ली जरूर खाये यह फायदेमंद साबित हो सकती है।
  • आप सूरजमुखी के बीज और तिल के बीज़ भी ले सकती है।
  • आप हरी सब्जियाँ जरूर खाये।
  • आप अंगूर का जूस जरूर पिये।
  • आप पहाड़ी बादाम नियमित रूप से ले।
  • पेठा भी मिर्गी के मरीजों के लिये बहुत अच्छा स्तोत्र है ।

क्या न खाये :

  • आप बिलकुल भी भारी ,तला और मसालेदार भोजन न खाये यह बहुत हानिकारक हो सकता है।
  • आप दालें जैसे उड़द और राजमा बिल्क़ुल भी न खाये ।
  • अप कचालू और गोभी से भी दूर रहे ।
  • आप चावल भी न ले ।
  • आप मसूर की दाल भी न खाये ।
  • आप शराब और तम्बाकू का सेवन न करे ।
  • आप नशीले पदार्थो से दूर रहे ।
  • ज़्यादा कॉफी और चाय भी न ले ।
  • आप गुटखा भी न खाए ।
  • आप पिप्परमेन्ट जैसी चीज़ों से दूर रहे ।
  • डॉक्टर से पूछे बिना कोई भी दवाई न ले ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top